Tuesday, 2 Jun 2020

06 वर्षो से बना ए एन एम केंद्र निष्क्रिय जब नहीं होना था उपयोग तो सरकारी धन पानी में क्यों बहाया गया


सैदपुर-अयोध्या- मवई विकास खंड के सैमसी गांव में बना एएनएम केंद्र का कभी उपयोग नहीं होता। बताया जाता है कि केंद्र पर कभी भी कोई एएनएम टीकाकरण तक करने नहीं आती। गांव वासियों का कहना है वर्तमान में यहां एएनएम के रूप में किसकी तैनाती है यह भी नहीं पता है।अब सवाल यह है कि जब केंद्र उपयोग ही नहीं करना है तो सरकारी धन पानी में क्यों बहाया गया,सैमसी गांव निवासी अधिवक्ता राजभूषण सिंह ने जानकारी देते हुए कहा इस केंद्र पर कभी टीकाकरण तक नहीं यही धन किसी अन्य कार्य में लगा होता तभी ठीक था। उन्होंने कहा गांव तथा क्षेत्र वासियों को टीकाकरण आदि कार्य के लिए पीएचसी सैदपुर ही जाना पड़ता है। फिर एएनएम केंद्र बनने का लाभ क्या है। वहीं इस संबंध में सीएचसी अधीक्षक मवई डॉ रविकांत वर्मा से बात की गई तो उन्होंने कहा सैमसी ही सभी केंद्रों पर टीकारण होता है वर्तमान सैमसी केंद्र गुड्डा सिंह एएनएम की तैनाती भी है। किंतु वर्तमान समय में कोरोनावायरस को लेकर सतर्कता बरता जा रहा है। सूचना गलत है।अब ग्रामीणों की मानें या चिकित्सा अधीक्षक मवई की ये समझ में ही नहीं आता ग्रामीणों का आरोप 06 वर्ष का और साहब कोरोनावायरस की सतर्कता बताते हैं। वैसे एक बात हकीकत है कि डॉ साहब से पिछले साल कुछ कथित झोलाछाप डॉक्टरों की शिकायत हुई कार्रवाई न होते देख संबंधित ब्यक्ति ने जनसूचना अधिकार के तहत सूचना मांगा तो मुख्य चिकित्सा अधिकारी अयोध्या से परमीशन मिलने के बाद कार्रवाई की बात कहकर कर्तब्यों की इतिश्री कर ली। और आज तक कार्रवाई नहीं हुई। इसलिए अधीक्षक श्री वर्मा की बातों पर विश्वास नहीं टिकता।

 ब्यूरो चीफ अयोध्या

शिव किशोर शुक्ला

Breaking News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share via