Thursday, 13 Aug 2020

विशेष बुलेटिन – “थोड़ी शर्म करे, इंसानियत को जिंदा रखें” मुर्ति विसर्जन नही कर सकते हो तो कृपया हमें दे दो…..🙏 सीएनआई टुडे न्यूज़ लखनऊ

धर्म का उपहास करने से बचना हैं।अपने देवी_देवताओं को सम्मान पूर्वक विसर्जित करना हैं।

आज पुनः श्रीसीतारामपरिवारसंस्था के द्वारा पुरनिया पर एक पेड़ के नीच देवीदेवताओं की प्रतिमायें कचरें की भांति पड़ी हुई थी जिसको हम और हमारे भाई, जितेंद्र, रवि जी द्वारा भरी बारिश में समस्त प्रतिमाओं को एकत्रित कर उन्हें सम्मान पूर्वक गोमती नदी में विसर्जित किया ।

शर्म आनी चाहिए ऐसे लोगों को किस तरह जिस भगवान की पूजा के लिए मूर्ति घर लाते है और आवश्यकता खत्म हो जाने पर उसी मूर्ति को कूड़े की तरह सड़क के किनारे कही भी डाल देते हैं वाह मेरे सनातन धर्मियों यही संस्कार है तुम्हारे अन्य धर्म के लोगों को देखो और उनसे शिक्षा लो मुझे बहोत दुख होता है जब कही भगवान की मूर्तियां इस हालत में देखता हूँ अरे अगर मूर्ति को कही विसर्जन करने में दिक्कत है तो किसी जगह जमीन में गड्ढा खोदकर उसमे पानी भरके मूर्ति डाल दीजिए उसी गड्ढे में समस्त पूजन सामग्री डालकर बाद में गड्ढे को मिट्टी से बंद कर दीजिए धरती माता की गोद मे विसर्जित मूर्ति बहोत ही सम्मानित तरीके से हों जाएँगी और मूर्तियों की यह दुर्दशा भी नही होगी कृपया आप सवसे निवेदन है मेरी इस पोस्ट के माध्यम से सबको जागरूक करें ताकि कोई इस तरह भगवान का अपमान न करे। #धन्यवाद_जय श्री राम 🙏 

    कृपया कर जो मूर्ति आपके घर मंदिर को सुख समृद्धि वैभव लक्ष्मी धन धन से परिपूर्ण करती है कृपया उन देवी-देवताओं की प्रतिमाओं को सम्मान पूर्वक विसर्जित करें अन्यथा हमें संपर्क करें।                                            समाज सेवक -नरेंद्र चौरसिया
सीताराम परिवार संस्था
संपर्क सूत्र- 9795969186,7355009354                     संवाददाता – अमित कुमार/ नरेंद्र चौरसिया

Breaking News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share via