Friday, 3 Apr 2020

भारत में मिला कोरोना से भी खतरनाक वायरस, जानवरों से इंसानों में फैलने में नहीं लगता वक्त-CNI today.com

 दिल्ली। कोरोना वायरस ने दुनिया के सैकड़ों देशों में अपना कोहराम मचा रखा है। इस वायरस से चीन में सबसे ज्यादा जानें गई हैं। इसके बाद इटली का नंबर आता है। वहीँ भारत की बात की जाए तो यहां कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों का आंकड़ा 107 पहुंच चुका है। इनमें से 11 मरीज ठीक हो गए हैं, जबकि अब तक तीन लोगों की मौत हो चुकी है। सबसे ज्यादा केस केरल से सामने आ रहे हैं। हालात को देखते हुए कई राज्यों ने कोरोना को महामारी घोषित कर दिया है तो कई शहरों में धारा 144 लगा दी गई है। केंद्र सरकार भी पूरी तैयारी कर रही है।

इस बीच भारत में कोरोना के अलावा एक और खतरनाक वायरस ने दस्तक दे दी है। गुजरात के संतरामपुर के प्रतापपुरा इलाके में घोड़ों में ग्लेंडर नामक वायरस देखने को मिला है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ये वायरस इतना खतरनाक होता है कि ये सिर्फ हवा से फैलता है और जानवरों से इंसान में फैलने में वक्त नहीं लगता। जानवर के पास जाने से ये वायरस इंसान में फैलता है।

दरअसल, एक घोड़े की अचानक तबीयत बिगड़ने पर उसे अस्पताल ले जाया गया। जहां जांच की गई तो घोड़े में ग्लेंडर नामक वायरस पाया गया। इलाज के दौरान ही घोड़े की मौत हो गई। वायरस की पुष्टि होने के बाद घोड़े के साथ रखे गए दूसरे घोड़े की भी जांच की गई, जिसमें सभी चार घोड़ों का ग्लेंडर वायरस पॉजिटिव आया। इसके बाद वन विभाग की ओर से इन घोड़ों को जहरीला इंजेक्शन देकर उनको मौत के घाट उतार कर उन्हें रिहाइशी इलाके से दूर दफना दिया गया।

घोड़े में पाए गए ग्लेंडर नाम के इस वायरस को लेकर अब प्रशासन भी अलर्ट हो गया है। खुद एनिमल हसबेंडरी डिपार्टमेंट आस-पास के सभी पालतू जानवरों की चेकिंग कर रहा है, ताकि अगर वायरस दूसरे जानवर में फैला हो तो उसे रोका जा सके। वहीं, उन घोड़े के संपर्क में आने वाले लोगों की भी चेकिंग की जा रही है। यह वायरस इंसान में भी हवा के जरिए फैलता है।

जानकारी के मुताबिक अब्दुल सत्तार पठान नाम के शख्स का घोड़ा पिछले कुछ वक्त से बीमार था। उस घोड़े को पशु अस्पताल में ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई, वहीं दूसरे घोड़े में भी ये वायरस पॉजिटिव आया। ग्लेंडर वायरस के पॉजिटिव आने से हड़कंप मच गया, जिसके बाद संतरामपुर शहर और तहसील के घोड़े, खच्चर और गधे को मिलाकर 176 जानवरों के सैंपल लैब में भेजे गए हैं। ये वायरस घोड़े की प्रजाति में ज्यादातर देखने को मिलता है, जो इंसान में भी जानवर के संपर्क में आने की वजह से फैल सकता है।

Breaking News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share via